Microblogging Kya Hai?

Microblogging kya hai

क्या आप जानते हैं की Microblogging Kya Hai?

Blogging के बारे में तो बहुत से लोगों ने सुना होगा| लेकिन आखिर ये Microblogging Kya Hai?

आज हम आपको इस article में यही बताएँगे की Microbogging Kya Hai और ये blogging से कैसे अलग है?

तो चलिए शुरू करते हैं….

Microblogging in Hindi – माइक्रो –ब्लॉग्गिंग दो शब्दों से मिलकर बनी है माइक्रो + ब्लॉग्गिंग इसका मतलव माइक्रो ब्लॉग्गिंग एक बहुत ही short पोस्ट ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है|

इसमे   आप short पोस्ट के जरिये ज्यादा  ऑडियंस को आकर्षित कर सकते है तथा इसके जरिये आप शोर्ट पोस्ट के माध्यम से ऑडियंस के साथ शोर्ट पोस्ट मे जानकारी शेयर कर सकते हो|

जैसे हम फेसबुक , ट्विटर, instagram को सोशल मीडिया समझते है लेकिन ये सब माइक्रो ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है जो अब माइक्रो ब्लॉग्गिंग के लिए बहुत लोकप्रिय हो रहे है|

इसे हम छोटे पैमाने की ब्लॉग्गिंग भी कह सकते है| लेकिन ब्लॉग्गिंग और माइक्रो ब्लॉग्गिंग मे बहुत फर्क होता है|

माइक्रो –ब्लॉग्गिंग एक शोर्ट messages या शोर्ट पोस्ट या फिर छोटा सा content होता है जिसे हम अपने ऑडियंस के साथ तुरत शेयर कर सकते है यह एक message  , ऑडियो , या फिर टेक्स्ट , विडियो कुछ भी हो सकता है|

माइक्रो- ब्लॉग्गिंग के इस्तेमाल के लिए आपको किसी भी प्रकार की टेक्निकल नॉलेज के आवश्यकता नही होती है|

इसके जरिये आप दुनिया मे कुछ भी जानकारी शेयर कर ने के लिए माइक्रो ब्लॉग्गिंग बहुत बढिया आप्शन  है|

एक साधारण सी भाषा मे कहे तो माइक्रो ब्लॉग्गिंग एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ हम शोर्ट पोस्ट विडियो या इमेज  पब्लिश कर सकते है|

Microblogging के उदारण

माइक्रो ब्लॉग्गिंग एक बहुत शोर्ट पैमाने की ब्लॉग्गिंग है इसके यूज़ से हमारे समय की काफी बचत हो जाती है और अपने ऑडियंस के साथ भी सम्पर्क मे रहते है|

माइक्रो- ब्लॉग्गिंग के कुछ महत्त्वपूर्ण उदारण इस प्रकार से है –

1. Twitter

ट्विटर एक सबसे पुराना माइक्रो-ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है जिसे सोशल मीडिया के नाम से भी बुलाते है|

परतु ट्विटर अन्य सोशल मीडिया से अलग है | आपको ट्विटर मे tweet करने के लिए 280 –करैक्टर लिमिट मिलती है और इन्ही  करैक्टर मे हमे अपनी बात खत्म करनी होती है|

ट्विटर पर आप फोटोज , gifs, विडियो और आर्टिकल लिंक शेयर कर सकते है | इसमें आप फेसबुक की तरह बड़ी-बड़ी पोस्ट नही कर सकते है , इस प्लेटफार्म को ज्यादातर सेलिब्रिटीज यूज़ करते है क्युकी उनके पास ज्यादा बड़ी पोस्ट लिखने का टाइम नही होता है|

  ट्विटर एक सोशल नेटवर्किंग वेब साइट है जो की कुछ हद तक फेसबुक की तरह ही है इसके यूज़ से आप अपने ऑडियंस से जुड़ सकते है|

इसका इस्तेमाल देश दुनिया के सभी फेमस लोग करते है | Tweet की मदद से आप हर दिन उन सभी विषयों के बारे मे जान सकते है जिनके बारे मे देश और दुनिया मे चर्चा की जाती है|

इसके आलावा आप भी विभिन्न विषयों पर अपनी राय रख सकते है ट्विटर का प्रमुख काम होता है लोगो द्वारा किसी मुदे पर अपने विचारो को प्रकट करना है |

2. Instagram

Instagram भी एक माइक्रो-ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है जिसकी मदद से आप मल्टीप्ल फोटोज एक साथ शेयर कर सकते हो इसके आलावा आप इसमें विडियो क्लिप भी शेयर कर सकते है|

ये भी बहुत बढिया माइक्रो- ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है| लेकिन इसमें हम हाइपरलिंक नही दाल सकते है|

जिन्हें फोटोग्राफी करना पसंद है वो Instagram का यूज़ कर के फेम पा  सकते है|

अगर आप पहले से ही Instagram यूज़ करते होंगे तो आपको इसे यूज़ करने मे कोई परेशानी नही आएगी| इसके आलावा आपको ट्विटर पर लिमिटेड कण्ट्रोल मिलता है परतु वहा पर ऑडियंस की कमी नही है|

और tumblr पर आप अपना खुद का माइक्रो ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म चला सकते  है|

इसमें आपको बहुत सारा कण्ट्रोल मिलता है और पॉवर फुल सोशल मीडिया टूल्स भी मिलते है इसके अलावा इसमें सबसे बड़ी बात ये कि इसमे आप कस्टम डोमेन भी इस्तेमाल कर सकते हो जैसे उदारण के लिए – yourblog.com आदि बहुत बढिया बढिया फीचर्स है|

Instagram भी अपने आप मे एक यूनिक सा प्लेटफार्म है जिन लोगो को फोटोज विडियो आदि शेयर करना पसंद है उनके लिए Instagram बहुत बढिया काम है|

3. Tumblr

Tumblr एक फेमस माइक्रो ब्लॉग्गिंग साइट या प्लेटफार्म है जिसे 2007 मे डेविड कार्प ने लांच किया था|

इसे एक पोपुलर  सोशल साइट के रूप मे भी जाना जाता है| इसके लीड डिज़ाइनर मार्को अर्मेंट है|

हम tumblr का यूज़ ब्लॉग लिखने के आलावा ब्लॉग promotion मे भी कर सकते है जिससे अपने ब्लॉग पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा पाठको तक पहुँचने मे आसानी होती है|

Tumblr एक ऐसा प्लेटफार्म है जिस पर आप अपना ब्लॉग और वेब साइट का पेज क्रिएट कर सकते है तथा एक जरुरी बात  की इस पर आपको ब्लॉग बनाने के पैसे नही देने पड़ते है क्युकी ये बिलकुल फ्री है|

इसमें भी आप लिनक्स , विडियो इमेजेज, ऑडियो भी add  कर सकते है| इसके आलावा इस पर ऑडियो विडियो टेक्स्ट तथा लिंक पोस्ट कर सकते है|

इसके अलावा आप tumblr पर अपने ऑडियंस से चैटिंग  भी कर सकते है |

4. Koo

Koo app  भी एक माइक्रो-ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है जो की अब भारत मे काफी लोकप्रिय हो रहा है|

इसके यूजर मे कुछ सालो से काफी बढ़ोत्तरी हो रही है| कुछ लोग तो इसे ट्विटर का देसी वर्शन मान रहे है|

यह app  Made-in-India है इसकी सबसे बड़ी खाश बात ये है कि इसे कई भाषाओ मे इस्तेमाल किया जा सकता जा सकता है|

यह app  माइक्रो ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म के रूप मे काफी लोकप्रिय हो रहा है| ये app काफी हद तक ट्विट्टर की तरह ही है|

ये app  लोगो को अलग अलग मुदो पर अपनी राय व्यक्त करने की सुविधा देता है| इसमें भी यूजर अपनी जानकारी को फोटो , ऑडियो, विडियो, कंटेंट राइटिंग के माध्यम से शेयर कर सकते है|

Koo जो भारत का माइक्रो ब्लॉग्गिंग और सोशल मीडिया प्लेटफार्म है अब इसने  भारतीय क्षेत्रीय भाषाओ मे बातचीत की जगह ले ली है|

Koo app मे लगभग एक करोड़ यूजर मे से फिफ्टी परसेंट यूजर हिंदी लैंग्वेज का इस्तेमाल करते है |

5. Purk

Purk भी एक माइक्रो-ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है जिसकी स्थापना मई  2008 मे हुई थी|

यह प्लेटफार्म भी ट्विटर की तरह ही काम करता है| इसके कुछ फीचर्स काफी यूनिक है|

इस प्लेटफार्म पर ट्विटर से ज्यादा करैक्टर शेयर कर सकते है| इसके आलावा आप इस प्लेटफार्म पर ग्रुप कन्वर्सेशन भी कर सकते है जिस कारण इसकी लोकप्रियता काफी बढ़ रही है|

इस app मे भी आप अपनी जानकारी को विडियो या फिर ऑडियो या टेक्स्ट कंटेंट आदि के माध्यम से शेयर कर सकते है|

6. App.net

App.net भी एक माइक्रो ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है| जिसके दुनिया भर मे लाखो यूजर है|

परतु इस app मे  अन्य app की तरह आपको फ्री की सुविधा उपलब्ध नही है| इसको यूज़ करने के लिए आपको 30 दिन का फ्री ट्रायल मिलता है|

 30 दिन के फ्री ट्रायल के बाद आपको इसको यूज़ करने के लिए एक निशित प्रीमियम प्लान खरीदना पड़ता है तभी आप इसका यूज़ कर सकते है| इसके फीचर लगभग ट्विटर जैसे ही है|

Blogging और Microblogging मे क्या अंतर है?

Blogging क्या है?

अगर मे आपको एक साधरण सी भाषा मे बताऊ –तो ब्लॉग्गिंग एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ लोग इन्टरनेट पर अपनी नॉलेज , इनफार्मेशन , तथा अपनी स्किल्स या टैलेंट को लोगो तक पहुंचाते है| इसको ही ब्लॉग्गिंग कहा जाता है| 

आज इन्टरनेट पर लाखो हजारो की सख्या मे दुनिया भर के ब्लोग्स मौजूद है |

ब्लॉग्गिंग का अर्थ – वो सभी काम जो कि एक blogger अपने ब्लॉग मे नियमित रूप से करता है जैसे की नई –नई जानकारीपूर्ण blog पोस्ट करना , अपने ब्लॉग की डिजाइनिंग को अच्छे से मैनेज करना , ब्लॉग का SEO करना, लिंकिंग करना, शेयरिंग करना, ब्लॉग को हमेशा अपडेटेड बनाये रखना|

इन सभी कार्य को मिलाकर ही इसे ब्लॉग्गिंग कहा जाता है| ब्लॉग्गिंग करने के लिए आपके पास जरुरत की सभी खुबिया मौजूद होनी चाहिए|

ब्लॉग्गिंग के लिए किसी भी प्रकार की कोई क्वालिफिकेशन की आवश्यकता नही होती है ब्लॉग्गिंग करने के लिए हमारे पास इन्टरनेट कनेक्शन और कंप्यूटर या पर्सनल लैपटॉप पर भी आप ब्लॉग्गिंग कर सकते है|

आज के समय मे ब्लॉग्गिंग काफी चर्चा का विषय बन रहा  है आजकल जिसे देखो अपने ज्ञान तथा अपने जानकारियों को ब्लॉग के माध्यम से लोगो तक पहुंचाना चाहता है|

Microblogging का अर्थ

माइक्रो-ब्लॉग्गिंग और ब्लॉग्गिंग मे दिन और रात का फर्क है , क्युकी माइक्रो ब्लॉग्गिंग हम दुसरो के प्लेटफार्म पर करते है| और इसे मैनेज करने के लिए ज्यादा तकनीक और नॉलेज की जरुरत नही पडती है इसमें हमे ज्यादा कण्ट्रोल भी नही मिलता है|

इसके आलावा इसमें कंटेंट लिखने के लिए ज्यादा समय भी नही लगता है और आप इसमें पांच-दस मिनट मे कोई कंटेंट लिखकर शेयर कर सकते है|

इसके आलावा इसमें केवल 100 वर्ड का कंटेंट भी शेयर कर सकते हो|

माइक्रो ब्लॉग्गिंग मे एक फायदा ये है की इसमें आप अपने ऑडियंस से सीधे बात कर सकते हो , इसमें आप एक कम्यूनिकेट circle अपने followers के साथ बना सकते है तथा उनके साथ घुल-मिल सकते है| और एक बड़ा circle बना सकते है|

माइक्रो ब्लॉग्गिंग करने के लिए आपको किसी भी लैपटॉप या कंप्यूटर की जरुरत नही होती है ये काम आप अपने मोबाइल फ़ोन से आसानी से कर सकते है|

माइक्रो ब्लॉग्गिंग आप कभी भी और कही भी शुरू कर सकते है| और कुछ ही मिनटों मे अपने कंटेंट और पोस्ट को ऑडियंस तक शेयर कर सकते है|

बस आपके पास मोबाइल और इन्टरनेट कनेक्शन होना चाहिए| माइक्रो ब्लॉग्गिंग के लिए आपको बहुत कम मेहनत और समय भी बहुत कम जरुरत होती है|

इसके जरिये आप अपने ऑडियंस से अच्छे से बातचीत कर सकते है इसको आप अपने मोबाइल से ही अच्छे से मैनेज कर सकते है|

Microblogging के फायदे

माइक्रो ब्लॉग्गिंग के बहुत सारे फायदे है

  • अगर आप माइक्रो ब्लॉग्गिंग मे अपने पोस्ट या ब्लोग्स क्रिएट करते है तो इसमें आपके ब्लोग्स का गूगल रैंक बढने के ज्यादा चांस होते है | क्युकी इसका प्रतियोगिता भी बहुत कम होती है | इसलिए आप इस पर आसानी से आर्टिकल लिख कर ऑडियंस तक शेयर कर सकते है | और अपनी गूगल रैंकिंग को भी बहुत जल्द बढ़ा सकते है |
  • जब आप माइक्रो ब्लॉग्गिंग से रिलेटेड टॉपिक क्रिएट करते है तो आप इसमें Google Adsense का अप्रूवल लेकर गूगल adsense के ads को भी शो कर सकते है | तो इस कारण वहां पर ट्रैफिक भी ज्यादा होगा और ज्यादा पैसे भी कमा पाओगे |
  • इसके आलावा माइक्रो ब्लॉग्गिंग का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसे मैनेज करने के लिए आपको किसी भी कंप्यूटर या फिर लैपटॉप की आवश्यकता नही पडती है | यह काम आप अपने मोबाइल फ़ोन से भी कर सकते है मोबाइल फ़ोन से ही आप अपने  माइक्रो ब्लोग्स को अच्छे से मैनेज कर सकते है | बस आपके पास इन्टरनेट कनेक्शन अवेलेबल होना चाहिए |

निष्कर्ष:

ये था हमारा article Microblogging Kya Hai के उपर| हम उम्मीद करते हैं की आप microblogging के बारे में अच्छी तरह से जान गए होंगे|

अगर आपको यह article पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करें|

धन्यवाद|

Vijay Kumar

CashFlow INDIA की स्थापना अंतरराष्ट्रीय स्तर पर Vijay Kumar ने की है। अपने दो ऑनलाइन और दो ऑफ़लाइन व्यवसायों के साथ असफल होने के बाद, उन्होंने रास्ते में सीखे गए सबक सिखाने के लिए CashFlow INDIA बनाया। CashFlow INDIA को लॉन्च करने के बाद से, Vijay ने जल्द ही रणनीतियों को प्रकाशित करके खुद के लिए एक नाम बना लिया, जिसका उपयोग मार्केटर अपने ऑनलाइन व्यवसाय को बढ़ाने के लिए कर सकते हैं। CashFlow INDIA अब सबसे लोकप्रिय हिन्दी ब्लॉगों में से एक है।

Leave a Reply