Nifty Kya Hai ? What is Nifty 50 in Hindi

Nifty Kya hai

hello , दोस्तों क्या आप जानते है कि nifty kya hai या फिर आपके मन मे कभी ये सवाल आया हो की nifty kya hai या nifty फिफ्टी क्या है आदि अगर आप के मन मे ऐसे सवाल है तो आज हम आपकी इस समस्या का समाधान करेगे क्युकी आज मे आपको nifty से सम्बधित सभी सवालों के जबाव इस आर्टिकल के माध्यम से आपको शेयर करूंगी |

अगर आप stock maket मे अपना करियर बनाना चाहते हो तो आपको भी nifty kya hai इसके बारे मे पता होना चाहिए क्युकी हम अक्सर जैसे सोशल मीडिया , टीवी, न्यूज़ पेपर आये दिन ये सुंनते रहते है की nifty आज इतना अंक नीचे चला गया या nifty आज इतना अंक उपर चला गया क्या आप जानते है कि nifty क्यों नीचे या ऊपर जाता है और इसके up और डाउन होने से मार्किट पर क्या प्रभाव पड़ता है तो चलिए शुरू करते है कि आखिर nifty kya hai

NSE मतलव – नेशनल स्टॉक एक्सचेंज एक स्टॉक एक्सचेंज है और फिफ्टी का मतलव पचास है इसको हम नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के फिफ्टी शेयर्स के name से भी पुकार सकते है | अगर हम nifty के बारे मे बात करे तो nifty जो है एक स्टॉक इंडेक्स है जो की नेशनल स्टॉक एक्सचेंज मे लिस्टेड टॉप फिफ्टी शेयर्स का एक बेंचमार्क है और nifty के द्वारा हम स्टॉक एक्सचेंज मे होने वाली बड़ी बड़ी हलचलों के बारे मे बहुत ही आसानी से जान सकते है | nifty के द्वारा हम मार्किट की कंडीशन के बारे मे आसानी से जान सकते है की मार्किट up मे चल रहा है की डाउन मे इसके आलावा हम स्टॉक एक्सचेंज मे होने वाले परिवर्तनों के बारे मे आसानी से पता लगा सकते है |

Nifty 50 Index क्या है ?

NSE का बेंचमार्क निफ्टी है निफ्टी एक तरह का इंडेक्स होता है , सन 1996 ई. मे निफ्टी को NSE के अंतर्गत शुरू किया गया था निफ्टी मे NSE की टॉप फिफ्टी कंपनियों को रखा जाता है | जिस कारण इसे Nifty Fifty के नाम से भी जाना जाता है | निफ्टी टॉप फिफ्टी लिस्टेड कम्पनीज के प्रमुख शेयर्स का इंडेक्स  होता है | 

nifty एक स्टॉक इंडेक्स  और इसके अंदर स्टॉक एक्सचेंज के 12 अलग –अलग सेक्टर की फिफ्टी कंपनी इंडेक्स्ड है | nifty फिफ्टी मे फिफ्टी कम्पनी से ज्यादा कम्पनी के शेयर्स लिस्टेड नही किया जा सकते है | इसलिए इसे nifty फिफ्टी कहा जाता है | nifty फिफ्टी मे टॉप फिफ्टी कम्पनी को रखा जाता है और ये कंपनिया टॉप फिफ्टी मे अपनी अच्छी परफॉरमेंस के कारण nifty फिफ्टी की लिस्ट मे शामिल होती है | इस बजह से ही nifty को फिफ्टी के name से पुकारा जाता है |

Nifty का कार्य

अब आप nifty क्या है , इसके बारे मे समझ गए होंगे तो अब हम जानते है की आखिर nifty का काम क्या होता है – nifty का प्रमुख कार्य ये होता है कि nifty मे लिस्टेड फिफ्टी कंपनियों के शेयर्स के बाज़ार मे क्या और कितना उनमे उतार-चढाव हो रहा इन सब की जानकारी हमे nifty के माध्यम से ही प्राप्त होती है | nifty के द्वारा ही हमे nifty मे जिन कंपनियों के शेयर्स लिस्टेड है वो कंपनिया किस तरह से काम कर रही है शेयर्स मार्किट मे उनकी कैसी  परफॉरमेंस है इन सब के बारे मे हमे जानकारी nifty से ही प्राप्त होती है |

अगर nifty मे लिस्टेड कंपनिया अपना अच्छा प्रदर्शन कर रही होंगी तो इसका सीधा असर कम्पनी के शेयर्स के भाव पर पड़ता है क्युकी उस कम्पनी के शेयर्स बढ़ जाते है और जब कम्पनी के शेयर्स के भाव बढ़ जाते है तो इस बजह से  nifty के अंक मे भी बढ़ोत्तरी होती है |

इसके आलावा अगर nifty मे लिस्टेड कंपनियों की परफॉरमेंस यदि मार्किट मे अछि या खराव होंगी तो इसका असर भी सीधा कम्पनी के शेयर्स पर पड़ेगा और उस कपनी के शेयर्स के भाव मे कमी आ जाएगी और जव शेयर्स के भाव मे कमी आ जाएगी तो nifty के अंको मे भी कमी आ जाएगी |

 

निफ्टी और अर्थव्यस्था

क्या आप जानते है की nifty और अर्थव्यस्था का भी भी बहुत गहरा रिलेशन है क्युकी जब भी nifty मे लिस्टेड कंपनिया अपना अच्छा प्रदर्शन करती है  और जब कोई कम्पनी अच्छा लाभ कमाती है और इसके पीछे देश की अर्थव्यस्था भी अच्छा काम कर रही होती है |

nifty  के अंक  बढ़ता है तो इसमे ज्यादा से ज्यादा निवेशक आने लगते है और जव ज्यादा निवेशक कम्पनी मे पैसा लगायेंगे तो कम्पनी grow करती है और जब कम्पनी grow करेगी तो देश की अर्थव्यस्था भी कंही न कंही मजबूत होंगी

जब nifty शेयर बाज़ार मे ऊपर जाता है तो देश मे बहुत से बाहरी निवेशक आने लगते है और जब वह भारतीय कंपनियों मे पैसा लगाते है तो रुपए मे तेजी आयगी और रुपया विदेशी मुद्रा के मुकाबले मे मजबूत होता है और जब रुपया मजबूत होता है तो इससे चीजे सस्ती होने लगती है |

Nifty की गणना –

क्या आप जानते है की nifty की गणना कैसे की जाती है अगर आप नही जानते तो मे आज आपको विस्तार से बताती हु कि nifty की गणना कैसे की जाती है |

nifty की गणना भी लगभग sensex की तरह ही फ्री फ्लोट मार्किट कैपिटलाइजेशन के कुछ अंतर को छोड़कर इसके आधार पर ही होती है | सबसे पहले nifty की गणना के लिए सभी कंपनियों का बाज़ार पूंजीकरण या मार्किट कैपिटलाइजेशन निकाला जाता है जिसके लिए आउटस्टैंडिंग शेयर की संख्या को वर्तमान भाव से गुणा करते है |

इसके बाद मार्किट कैपिटलाइजेशन को इवेस्टवल वेट फेक्टर (RWF) से गुणा किया जाता है RWF पब्लिक ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध शेयर्स का हिस्सा है | इसके बाद मार्किट कैप को इंडिविजुअल स्टॉक को साइन किया हुए वेटेज से गुणा किया जाता है |

nifty की गणना के लिए सभी कंपनियों के वर्तमान मार्किट वैल्यू को बेस मार्किट कैपिटल से डिवाइड कर बेस वैल्यू से गुणा किया जाता है |  

 

Nifty और Sensex मे अंतर –

अगर हम nifty और sensex के बीच अंतर की बात करे तो यह दोनों ही स्टॉक इंडेक्स है लेकिन फिर भी इन दोनों मे कुछ बिशेष अंतर है जो इन दोनों को एक दुसरे से अलग करता है तो आइये हम जानते है आखिर क्या अंतर है इन दोनों मे –

  1. sensex BSE अर्थात बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का स्टॉक इंडेक्स है जबकि nifty NSE अर्थात नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का स्टॉक इंडेक्स है |
  2. दूसरा अंतर ये है इनमे की बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज मे थर्टी कंपनिया लिस्टेड है जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज मे फिफ्टी कंपनिया लिस्टेड है |
  3. nifty को शेयर बाज़ार मे sensex के मुकाबले ज्यादा विश्वसनीय माना जाता है क्युकी sensex मे केवल थर्टी कंपनिया लिस्टेड है और nifty मे फिफ्टी कंपनिया लिस्टेड है और फिफ्टी कंपनिया थर्टी के मुकाबले मे मार्किट कैप का आकंलन बाज़ार की ज्यादा वास्तविक स्थिति दिखाने मे कर सकते है |
  4. इन दोनों इंडेक्सो का काम अपने अपने स्टॉक एक्सचेंज की शेयर बाज़ार मे क्या स्थिति है उसका पता लगाना होता है |

Nifty के फायदे

nifty के बहुत से फायदे होते है जिन मे से कुछ फायदों के बारे मे हम चर्चा करते है जैसे – nifty nse किस तरह से काम कर रहा है nse की शेयर बाज़ार मे कैसी परफॉरमेंस है इन सब पर नजर रखने का कार्य nifty का ही होता है |

इसके आलावा nifty के द्वारा बाज़ार मे होने वाली मंदी या तेजी की सूचनाओ की जानकारी nifty के माध्यम से ही प्राप्त होती है | nifty के द्वारा हमे देश की अर्थव्यस्था की जानकारी आसानी से मिल जाती है |

निष्कर्ष –

फ्रेंड्स , तो ये था हमारा आर्टिकल nifty kya hai( what is nifty in hindi) हमने इस पोस्ट के जरिये आपको nifty से सबधित  सारी जानकारी देने की कोशिश की है  उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो आपको ये आर्टिकल कैसा लगा कमेंट बॉक्स मे जरुर बताये

धन्यवाद |

Leave a Reply