SEO Kya Hai और कैसे करें? Best Guide 2021

seo kya hai
seo kya hai

क्या आपने कभी SEO के बारे में सुना है कि SEO kya hai और Web Pages के लिए क्यों जरूरी है?

अगर आप Internet या Digital Marketing कि दुनिया से जुड़े हैं तो आपने ये SEO नाम बहुत बार सुना होगा| अगर आप इस Field में नए हैं और अपने यह नाम नही सुना है तो आज हम आपको इस Article में पूरी जानकारी देंगे कि SEO क्या है?

आज का समय Internet और Digital Marketing का है| अत: Internet तथा Digital Marketing कि दुनिया में “SEO” शब्द बहुत मशहूर है| क्या अपने कभी सोचा है कि इस SEO शब्द में ऐसा क्या खास है? क्यों हर दिन लाखों लोग Google पर इस SEO शब्द को खोजते हैं? दुनिया कि हर बड़ी से बड़ी कंपनियां जो अपने Products या Services को बेचती हैं, वह अपना अधिक पैसा अपनी Website के SEO पर खर्च करती हैं उदहारण के लिए Amazon, Flipkart इत्यादि और भी बहुत सी कंपनियां हैं|

आप इस पोस्ट को शुरू से अंत तक बिल्कुल ध्यान से पढे जिसे आप यह जान पायेंगे कि SEO Kya Hai और SEO Kaise Karte Hain?

SEO Ka Full Form Kya Hai?

SEO Ka Full Form Search Engine Optimization  है| यह Website को Search Engine में रैंक करवाने कि एक तकनीक तथा कला है, जिसे Organic Listing भी कहते हैं|

Search Engine Optimization (SEO) आपके Online Content को Optimize करने कि एक प्रक्रिया है जिससे Search Engine एक निश्चित Keyword को खोजने पर वह उससे Google के Top Search Result में दिखता है|

SEO एक प्रकार से वेबसाइट को सर्च इंजन में टॉप पर लाने कि तकनीक होती है जिससे आपकी Website पर Traffic Increase हो सके|

SEO Search Result में Organic (Non-Paid) तरीके से आपके Website कि रैंकिंग सुधारने के बारे में है| किसी Main Keyword कि रैंकिंग का मुख्य फ़ायदा यह होता है कि आप महीने दर महीने Website पर मुफ़्त में Traffic प्राप्त कर सकते हैं|

हर दिन अकेले Google पर 2.2 Million से अधिक सर्च होते हैं| इसलिए हर कोई चाहता है कि उसकी Website Gogle के पहले पेज पर रैंक करे| Website को First Page पर लाना इसलिए जरूरी होता है क्यूंकि अधिकतर लोग केवल उसी Website को Visit करना पसंद करते हैं जो First Page पर शो होती हैं| इसलिए Website Owner के लिए SEO बहुत जरूरी हो जाता है|

Search Engine कैसे काम करता है?

आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि Search Engine कैसे काम करता है?

जब आप Google में कुछ खोजते हैं, तो एक Algorithm कार्य करता है जो Google के Database से सही जानकारी लाने का प्रयास करता है जो उस Search Engine में आपके द्वारा डाली गयी Query के लिए Best होती है| इसका मतलब यह है कि Google अपने Database में  अरबों-खरबों Web Pages जमा कर के रखता है|

Google बहुत से रैंकिंग कारकों को देखता है जैसे कि कितनी बार आपके Page में Keyword इस्तेमाल किया गया है,आपका Page Title, Meta Description, Website का URL, Backlinks Quality, Images इत्यादि| Search Engine में Bots लगातार Crawling करते रहते हैं और Website कि Ranking करते रहते हैं|

वास्तव में तो Google अपने Algorithm कभी भी नही बताता है कि वह किस आधार पर Website तथा Blogs कि Ranking करता है|

SEO कैसे काम करता है?

जैसा कि अब आप जान गए होंगे कि Search Engine कैसे कार्य करता है, इसलिए अब आप ये आसानी से जान सकते हैं कि आपका Web Page SERPs पर कैसे रैंक कर सकता है|

यह वह जगह जहाँ आपका SEO काम में आता है| सरल शब्दों में कहें तो SEO आपके Web Page को SERPs पर उच्च रैंक करने के लिए Google के सभी दिशा निर्देशों का पालन करता है|

हालाँकि Google 200 से अधिक रैंकिंग कारकों को मानता है, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण कारक Web Page पर अच्छा Quality Content का निर्माण करना है जो आपकी Audience कि समस्या को हल करे|

यदि आप अपनी Website को SERPs में पहले पेज पर रैंक करवाना चाहते हैं तो आपको Website का SEO जरुर करना होगा| Search Engine Optimization आपके ON-Page SEO एलिमेंट्स जैसे कि Content, Title & Meta Description, URLs और बहुत से अन्य कारकों पर निर्भर करता है|

SEO में Off-Page SEO एलिमेंट्स जैसे कि अच्छी क्वालिटी Domain से Links Building करना इस पर भी निर्भर करता है| इन दोनों उचित रणनीतियों से बने Web Pages से Google को आपके Web Page को समझने में मदद मिलती है जो आपकी Website को Google SERPs में टॉप रैंकिंग पे दिखता है|

Website में SEO कि ज़रूरत क्यों होती है?

दुनिया में 60% से अधिक Search Engine ट्राफिक Google से आता है| यदि इसकी तुलना अन्य Search Engine जैसे कि Bing और Yahoo के साथ संयुक्त रूप से करे तो Bing-Yahoo दोनों पर. ट्राफिक 70% तक आता है|

एक Study के अनुसार यदि आपकी Website #1 पर रैंक कर रही है तो 40% सम्भावना है कि यूज़र आपकी ही Website पर क्लिक करके अपनी Query को हल करेगा| यही कारण है कि SEO आपकी Website/Business के लिए बहुत जरूरी है|

Types Of SEO In Hindi

1 On-Page SEO

2 Off-Page SEO

On-Page SEO Kya Hai?

On-Page SEO आपके वेबसाइट के Web Pages को SERPs में उच्च रैंकिंग करने और अधिक ट्रेफिक प्राप्त करने कि एक तकनीक है| अपनी Website का Optimization (अनुकूलन) करते समय On-Page SEO सबसे जरूरी है| SEO का ध्यान रखते हुए अपने Website में SEO Friendly Theme का उपयोग करे|

एक अच्छा और फ्रेश Content लिखे और Content में ऐसे Keywords का इस्तेमाल करे जो Search Engine में सबसे ज्यादा खोजे जाते हैं| Keywors को Blog के Title, Meta Description, Content में अच्छी तरह से जोड़े| Content में Keyword Stuffing बिलकुल भी ना करे| समय-समय पर अपने Blog के Content को अपडेट करते रहें|

On-Page SEO बहुत से factors पर निर्भर करता हैं:

  • Website Speed
  • Website Theme/Template
  • Website Design
  • Mobile Responsiveness
  • Favicon Icon
  • Keywords
  • Title tag
  • Meta Description
  • Internal Linking
  • Conical URL
  • Content Keyword Density
  • Image Alt Text
  • Use Of Keyword In H1 Tag and Sub-Heading H2, H3, H4
  • Good Length Content Atleast 1800 Words
  • SSL Certificate
  • Add Social Media Buttons

Off-Page SEO Kya Hai?

इसे Off-Site SEO भी कहते हैं| Off-Site SEO वह होता है जब Web pages के अच्छी रैंकिंग के लिए Links को बाहरी Website तथा Social Media Platform पर प्रोमोटे किया जाता है| सरल शब्दों में कहें तो Website कि External Linking करना Off-Page SEO कहलाता है| इन External Links को Backlinks कहा जाता है|

Off-Page SEO करके भी आप अपने Website पर बहुत सारा Traffic ला सकते हैं| Off-Page SEO बहुत सारे Factors पर निर्भर करता है|

  • Backlinks Building
  •  Guest Posting
  •  Forum Posting
  •  Question & Answering
  •  Blog Commenting
  •  Social Bookmarking Like Quora, Pinterest, Reddit, Scoopit
  •  Social Media Platform Facebook, Youtube, Instagram, Twitter
  •  Search Engine Submission

Organic और Inorganic Result क्या है?

SERP पर Web Pages लिस्टिंग को मोटे-मोटे दो वर्गों में बांटा जाता है – Organic और Inorganic.

Organic Result 100% Free और Natural होते हैं| सरल शब्दों में कहें तो आपको Web Pages को रैंक करवाने के लिए Google को कोई पैसे नही देने पड़ते हैं| इसमें आपकी Website कि रैंकिंग पूरी तरह आपके SEO पर निर्भर करती है|

Organic Search Result

Inorganic Result Paid होते हैं| इसमें आपको Website कि रैंकिंग के लिए Google को पैसे देने पड़ते हैं| बड़े Business अपने Website कि हाई रैंकिंग करवाने के लिए Inorganic Result का इस्तेमाल करते हैं|

Inorganic Search Result

जितने भी Website URL से पहले “Ad” लगा है इसका मतलब है कि इन Website वालो ने अपने Website को Google के Search Result पेज में Top पर आने लिए पैसे दिए हैं| इसे ही Inorganic Result कहते हैं|  

SEO Techniques

White Hat SEO Kya Hai?

 White Hat SEO Website पर Traffic बढाने का सबसे वैध तरीका है| White Hat SEO तकनीक में उपयोगकर्ता के अनुभव में सुधार और SERP में उच्च रैंकिंग प्राप्त करने के लिए सभी Search Engine के नियमों और नीतियों का पालन किया जाता है| इसमें On-Page SEO और Off-Page SEO दोनों शामिल है|

Black Hat SEO Kya Hai?

Black Hat SEO Search Engine के नियमों और नीतियों का उलंघन करके Website को रैंक और Web Traffic में सुधार करने का एक तरीका है|

Grey Hat SEO Kya Hai?

Grey Hat SEO आज के आधुनिक समय में सबसे अधिक इस्तेमाल किये जाने वाली SEO तकनीक है| यह White Hat SEO और Black Hat SEO दोनों का एक संयोजन है|

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह Article SEO kya hai और Search Engine Optimization कैसे करते हैं बहुत पसंद आया होगा|

हमने अपनी तरफ से आपको बिलकुल सरलता से समझाने कि पूरी कोशिश कि है SEO kya hai और Search Engine Optimization कैसे करते हैं| यदि फिर भी किसी के मन में इस Article को लेकर कोई Doubt रह गया हो तो आप बिना किस जिझक के हमसे सम्पर्क कर  सकते हैं हम आपकी हर सम्भव मदद करने का विश्वास देते हैं|

अगर हमसे किसी प्रकार कि कोई गलती भी हुई तो हमे जरूर बताए जिससे हमे भी कुछ नया सीखने को मिलेगा| आखिर इंसान गलतियों से ही सीखता है|

यदि आपको ये Article पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ तथा अपने Social Media पर जरूर शेयर करे जिससे अधिक से अधिक लोगों तक यह ज्ञान पहुंचे|    

Vijay Kumar

CashFlow INDIA की स्थापना अंतरराष्ट्रीय स्तर पर Vijay Kumar ने की है। अपने दो ऑनलाइन और दो ऑफ़लाइन व्यवसायों के साथ असफल होने के बाद, उन्होंने रास्ते में सीखे गए सबक सिखाने के लिए CashFlow INDIA बनाया। CashFlow INDIA को लॉन्च करने के बाद से, Vijay ने जल्द ही रणनीतियों को प्रकाशित करके खुद के लिए एक नाम बना लिया, जिसका उपयोग मार्केटर अपने ऑनलाइन व्यवसाय को बढ़ाने के लिए कर सकते हैं। CashFlow INDIA अब सबसे लोकप्रिय हिन्दी ब्लॉगों में से एक है।

Leave a Reply